Insulux capsule uses in hindi : इंसुलक्स कैप्सूल के उपयोग, फायदे तथा नुकसान

Insulux capsule uses in hindi: नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं Insulex Capsule के बारे में और जानेंगे कि Insulux capsules side effects in hindi. आज की पोस्ट खासकर उन लोगों के लिए है जो डायबिटीज से परेशान है। दोस्तों हम कोई भी दवाई का सेवन करें इससे पहले हमें उसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए क्योंकि आप जो भी खाते हैं उसका सीधा प्रभाव आपके शरीर पर पड़ता है। अगर आपके मन में भी Insulux capsules को लेकर कोई भी प्रश्न है तो यह पोस्ट आपके लिए ही है। 

हम आपको इन्सुलेक्स कैप्सूल को उपयोग करने की विधि और इसके फायदे व नुकसान के बारे में भी विस्तार से बताएंगे। 

तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते हैं -

इंसुलक्स कैप्सूल क्या है ?/ Insulux Capsule in hindi 

Insulux capsule uses in hindi | इंसुल्क्स कैप्सूल


Insulux कैप्सूल Biotech द्वारा बनाई गई एक आयुर्वेदिक औषधि है। इसका इस्तेमाल मुख्यतः डाइबिटीज (शुगर) के उपचार में किया जाता है। आपके शरीर में ब्लड शुगर को कम करता है वह उसे नियंत्रित करने में सहायता करता है। इसके अलावा यह आपके शरीर में ग्लूकोज को अवशोषित होने से रोकता है और पैंक्रियाज को ठीक करता है जिससे इंसुलिन को बढ़ाने में सहायता मिलती है इसके कारण आपके शरीर का ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित होता है। 

ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के अलावा इस दवा का उपयोग  हृदय संबंधी रोगों के उपचार के लिए भी किया जाता है यह आपके हृदय को शक्ति प्रदान कर उसे स्वस्थ बनाता है। 


Insulux capsule uses in hindi / इंसुलक्स कैप्सूल के उपयोग

इन कैप्सूल का इस्तेमाल आमतौर पर शुगर डायबिटीज के मरीजों के लिए किया जाता है शुगर लेवल को कम करने व इसे नियंत्रित करने में यह बहुत ही कारगर दवाई है इसके अलावा यह दवाई निम्न कारणों के लिए भी उपयोग की जाती है। जैसे -

  • यह शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है जिसे शुगर लेवल कम होता है।
  • यह हमारे लिवर और पेनक्रियाज को सक्रिय करता है जिससे शरीर में इंसुलिन बनाने की क्षमता बढ़ती है और शुगर लेवल कंट्रोल करने में सहायता मिलती है।
  • यह हृदय को स्वस्थ बनाता है और शरीर में उपस्थित नसों अर्थात हमारे सर्कुलेटिंग सिस्टम को अच्छे से काम करने में सक्षम बनाता है।
  • यह कैप्सूल हमारे शरीर के हार्मोन सिस्टम को भी सही करते हैं।
  • यह पाचन को सही करता है तथा उपापचय की समस्या से छुटकारा दिलाता है।


Ingredients in Insulux capsules/ इंसुलक्स कैप्सूल में मिश्रित सामग्री (संगठन)

इन कैप्सूल्स म निम्नलिखित औषधियों का समावेश किया गया है। 

  1. गुड़मार (Gymnwma sylvstre): यह बहुत ही असरदार आयुर्वेदिक औषधि है। इसे गुड़मार के नाम से जाना जाता है जिसका अर्थ होता है शुगर को मारने वाला। इसका इस्तेमाल डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।
  2. हल्दी  (Curcuma longa) :  हल्दी एक तरह का एंटी ऑक्सीडेंट होता है बीमारियों से लड़ने में हमारी रक्षा करता है। लिवर में पाचन को सही करने के अलावा यह कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज में भी उपयोगी है।
  3. करेला  (Momordica charantia) : करेले को एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है यह आपके पाचन को सही कर ब्लड शुगर लेवल को कम करने में सहायता करता है। यह भोजन को भी कम करता है। 
  4. मालाबार किनो ट्री  (Pterocarpus marsupium) :  इसका इस्तेमाल बहुत सी दवाइयों में किया जाता है। इसका मुख्य गुण है कि यह डायबिटीज़ को कम करने में सहायक है। इसके अलावा यह दर्द और रक्तस्राव के लिए भी उपयोग की जाती है। 
  5. मेथी दाना  (Tregnella foenum graecum) :  इसका इस्तेमाल सदियों से आयुर्वेदिक उपचार में किया जाता है। मेथी दाना भी शुगर लेवल को कम करने व उसे नियंत्रित करने में हम भूमिका निभाता है। 
  6. नीम  (Azadirachta indica): हज़ारों वर्षों से नीम का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। यह एक उत्तम एंटीसेप्टिक होती है। त्वचा रोगों के अलावा यह डायबिटीज को कम करने में असरदार औषधि है। 
  7. बेल  (Angela marmelos):  बेल एक ऐसा फल है जिसके अनेकों फायदे होते हैं। इस दावे में इसका प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि बेल इन्सुलिन बनाने में मदद करता है जिससे हमारा शुगर लेवल कम होता है। 
  8. जामुन (syzygium cumini): जामुन को डायबिटीज के मरीजों के लिए अमृत कहा जाता है। इसके एन्टी-डायबिटिक गुणों के कारण इसके बीजों का सेवन किया जाता है व दवाइयों में इसका इस्तेमाल किया जाता है। 
  9. कालीमिर्च  (Piper nigrum) : इसका इस्तेमाल पेट संबधी बीमारियों , गले, सर्दी जुक़ाम आदि में किया जाता है। यह वजन घटाने में भी कारगर है। 
  10. लौंग  (syzygium aromaticum) : इसका इस्तेमाल अपच व अन्य पेट संबंधी समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। 

How Insulux Capsule works / इंसुलक्स कैप्सूल कैसे काम करता है ?

जैसा कि हमने आपको बताया की इंसुलक्स कैप्सूल्स में 10 से ज्यादा जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया गया है। जब आप इन कैप्सूल का सेवन करते हैं तो सबसे पहले आपके पेट की समस्याओं को दूर कर पाचन को ठीक करता है। इसके पश्चात वह आपके पेनक्रियाज को एक्टिव करता है जिसके कारण आपके शरीर में इंसुलिन बनने की मात्रा बढ़ जाती है फल स्वरुप आपका ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है। 

How to control Sugar level 


इसमें गुड़मार, करेला, नीम, मेथी दाना जामुन, किनो ट्री आदि औषधियों का एक संतुलित मिश्रण तैयार किया गया है जो आपको शुगर से छुटकारा दिलाने में कारगर साबित होता है। 

इसके अलावा इसमें बेल, हल्दी, कालीमिर्च, लौंग इत्यादि औषधियों का इस्तेमाल किया गया है जो आपका वजन कम करने के साथ ही अन्य बीमारियों से लड़ने में भी आपकी रक्षा करती हैं।

Insulux capsules benifits in hindi / इंसुलक्स कैप्सूल के लाभ

  • यह टाइप 2 डायबिटीज को कम करता है  व  इसे नियंत्रित करने में सहायता करता है।
  • क्योंकि शरीर में पेनक्रियाज और लिवर का एक्टिव करके आपके शरीर में इंसुलिन निर्माण की मात्रा को बढ़ा देता है।
  • यह आपके शरीर से से ब्लड शुगर को कम करता है और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है।
  • पेट संबंधित अन्य बीमारियों को सही करता है तथा पाचन की शक्ति को बढ़ाता है।
  • यह आपके शरीर से वसा (fat) को कम करता है इसके कारण आपका वजन भी कम होता है।
  • आपके शरीर में ग्लूकोस के अवशोषण को नियंत्रित करता है।
  • इसमें उपस्थित जड़ी बूटियां शुगर कम करने के साथ ही आपके शरीर के इम्यूनिटी को भी बढ़ाते हैं जिससे अन्य लोगों से लड़ने में आपकी रक्षा होती है।

Insulux capsules side effects in hindi / इंसुलक्स कैप्सूल के दुष्प्रभाव या नुकसान

जैसा कि हमने आपको बताया है की Insulux कैप्सूल पूरी तरह से आयुर्वेदिक औषधियों से बनाए गए हैं अतः इनका कोई भी साइड इफेक्ट या दुष्प्रभाव नहीं है। यहां तक कि इसमें किसी भी प्रकार के केमिकल यह अन्य पदाथों का इस्तेमाल भी नही किया गया है। इस दवा के द्वारा होने वाले साइड इफेक्ट का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। जितने भी लोगों ने इसका इस्तेमाल किया है उसके अनुसार इस दवा का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है और यह दवाई शुगर को नियंत्रित करने में काफी कारगर है। 

फिर भी यदि आपको इस दवा से कोई एलर्जी होती हैं या सिर दर्द, उल्टी मतली, कब्ज या जुक़ाम आदि की समस्या होती है तो आप इस दवा का सेवन बंद कर सकते हैं। आपके लिए आवश्यक है कि इस दवा का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही किया जाना चाहिए।

How to use Insulux capsules |इन्सुलक्स कैप्सूल का का सेवन कैसे करें

  • अपने डॉक्टर के परामर्श के अनुसार इस दवाई को लें। 
  • इसे चबाना या कुचलना नही चाहिए।
  • पानी के साथ इसे पूरा निगल लें ।
  • आप इसे भोजन के पहले ले सकतें हैं। 
  • सेवन का समय व मात्रा डॉक्टर की सलाह के अनुसार होनी चाहिए। 


इन्सुलक्स कैप्सूल के उपयोग में आवश्यक सावधानियाँ

अगर आपको ऊपर बताए गए साइड इफेक्ट्स में से कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो आप इस दवा का इस्तेमाल बंद कर सकते हैं। 

अगर आप किस दवा से कोई एलर्जी होती है तो आपको 
इसका सेवन बंद कर देना चाहिए।

अगर आप अन्य दवाओं का भी सेवन कर रहे हैं जिसके लिए डॉक्टर की परामर्श की आवश्यकता नहीं होती उस दशा में आपको इस कैप्सूल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए अथवा करने से पूर्व डॉक्टर्स की सलाह लेनी चाहिए। 

अगर आप को हृदय या गुर्दा संबंधी रोग हैं तब भी आपको इस दवा का इस्तेमाल करने से पूर्व अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए वह उसकी निगरानी में ही इनका सेवन करना चाहिए। 

गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस दवाई का इस्तेमाल नही करना चाहिए। अगर लेना पड़े तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।



Insulux capsule से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न 

इस दवा के बारे में अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर के बारे में जानते हैं- 

What is Insulux capsules/ इंसुलक्स कैप्सूल क्या है ?

इंसुलक्स कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसका इस्तेमाल डायबिटीज के मरीजों के लिए किया जाता है यह शुगर को कंट्रोल करने में बहुत ही कारगर दवाई है।

Is Insulux capsule safe / क्या इंसुल्क्स कैप्सूल का इस्तेमाल सुरक्षित है ?

जी हां इंसुल्क्स कैप्सूल का इस्तेमाल पूर्ण रूप से सुरक्षित हैं क्योंकि इसे बनाने में जड़ी बूटियां और कुछ औषधीय पौधों का इस्तेमाल ही किया गया है किसी भी प्रकार के केमिकल या अन्य पदार्थों को इसमें मिलाया नहीं गया। यही कारण है कि इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। 

इंसुल्क्स कैप्सूल कैप्सूल कितनी मात्रा में लेना चाहिए / Insulux capsule dose

आमतौर पर इंसुलक्स कैप्सूल का इस्तेमाल दिन में दो बार किया जाना चाहिए परंतु मेरी सलाह यह है कि आप अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार इस दवाई का सेवन करें और अपने डॉक्टर के परामर्श के अनुसार ही दवाई की मात्रा व अवधि निर्धारित करें।



अस्वीकरण -  यह पोस्ट सिर्फ जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से बनाई गई है। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी बीमारी या उसके उपचार के लिए नही किया जाना चाहिए।  किसी भी दवाई के इस्तेमाल और स्वास्थ्य संबंधी समस्या के लिए सदैव एक अच्छे डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए। 


Conclusion / निष्कर्ष

यह दवाई पूर्ण रूप से सुरक्षित है और डायबिटीज के लिए बहुत ही कारगर दवाई है आपको उसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के अनुसार जरूर करना चाहिए। 

आशा करते हैं कि आपको हमारी आज की यह पोस्ट  Insulux Capsule uses in hindi पसंद आई होगी। हमने आपको Insulux Capsule in hindi के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया है। 

हमारा यही प्रयास रहा है कि आपको इंसुल्क्स कैप्सूल से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करें। फिर भी आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमसे Comment box में पूछ सकते हैं। 

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आती है तो इसे अपने दोस्तों और  सोशल मीडिया पर शेयर करें और शिक्षा और जानकारी से जुड़ी ऐसी ही पोस्ट पढ़ने के लिए हमे   Facebook Instagraam और Twitter पर follow करें। 

धन्यवाद !

आपका दिन शुभ हो !

Post a Comment

37 Comments

  1. एलोपैथ डाक्टर तो बताएगा ही नहीं इसको (insulux)खाने के लिए फिर किस डाक्टर से पूछें🙏🌹🙏

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप किसी अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर का परामर्श ले सकते है।

      Delete
  2. क्या इसमें इन्सुलिन तो नही मिलाया गया है

    ReplyDelete
  3. जी नहीं इसमें नैचुरल रूप में जड़ी बूटियां है जी आपके शरीर मे इन्सुलिन बनाने में मदद करती है। इसमें कोई भी इन्सुलिन नही मिली गयी है ।

    ReplyDelete
  4. खाना खाने से कितने समय पहले लेना है

    ReplyDelete
  5. खाना खाने से 1 घंटे पहले लेना चाहिए

    ReplyDelete
  6. इसे कितने समय तक लेना होगा. क्या इससे डायबिटीस पुरी तरह से ठीक होती है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आम तौर पर इसे रोजाना लिया जा सकता है क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक औषधि है। परंतु इसको कितने समय तक लेना है यह आपकी बीमारी पर निर्भर करता है। आप किसी योग्य आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह पर ही इसे तय समय तक लें।

      Delete
  7. Insulux type 1 sugar me bhi Kam karta hai

    ReplyDelete
  8. Type one sugar me bhi fayda karega

    ReplyDelete
    Replies
    1. This comment has been removed by the author.

      Delete
  9. Kya insulux dava khana ke liye doctor ki salah ki jarurat hai ya Bina doctor ki salah ke bhi kha sakate hai

    ReplyDelete
    Replies
    1. यह एक आयुर्वेदिक मेडिसिन है इसीलिए इसके कोई गंभीर साइड इफ़ेक्ट नही होते हैं अतः आप इसे बिना डरे ले सकते हैं। परंतु आपको किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

      Delete
    2. Pergenet women's yeh dawa l sakti hai

      Delete
    3. Pregnant womens ko ye dawai bina Doctor ki salah ke bilkul nahi leni chahiye .

      Delete
  10. Kya humay dusarie medicine chodanee padaygi

    ReplyDelete
    Replies
    1. Agar Dusri medicin bhi le rahe hain to isko khane se pahle kisi Ayurvedic Dr se salah leni chahiye.

      Delete
  11. 80 85 kg weight hone par kitne mg ka capsule din me kitni baar lena hai?

    ReplyDelete
    Replies
    1. आम तौर पर इसके एक एक कैप्सूल सुबह और शाम में लेने होते हैं लेकिन इसको खाने की मात्रा आपको एक चिकित्सक के अनुसार तय करनी चाहिए।

      Delete
  12. Iski keemat kitni hai

    ReplyDelete
  13. Prize kitna hai

    ReplyDelete
  14. Rs 1000 main kitne capsule hai

    ReplyDelete
  15. Pregnancy ke liye safe hai ye medicine ya nahi

    ReplyDelete
    Replies
    1. Pregnancy me isko lene se pahle Doctor se salaah leni jaruri hai. Pregnancy me aap kisi achhe Ayurvedic Dr se advice lene ke baad hi iska istemaal kare. 🙏

      Delete
  16. Ye khana khané se pahle Lena hai bad me lnsulux capsule

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ise khana khane se pahle liya jata hai

      Delete
    2. Isko kaise Lena hain aur kitni capsules lene hain

      Delete
    3. Isko khana khane ke aadhe ghante pahle liya jata hai. Aap iske 2 capsule ko din me do bar le sakte hai.

      Delete
  17. 500 mg, 750 mg, 800 mg इनमें क्या अन्तर है और किसके लिए कौनसी मात्रा है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. यह सभी मात्राओं वाले कैप्सूल्स मरीजों को उनके शुगर लेवल और परिस्थितियों के अनुसार दिए जाते हैं। आप किसी अच्छे आयुर्वेदिक (BAMS) डॉक्टर से सलाह लेकर अपनी मात्रा सुनिश्चित कर सकते हैं

      Delete
  18. क्या इसको लेने से कोई साइड इफेक्ट हो सकता हैं क्या इससे परमानेंट ईलाज हैं

    ReplyDelete
    Replies
    1. क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक मेडिसिन है इसीलिए इसके कोई गंभीर साइड इफ़ेक्ट नहीं है। यह दवाई डायबिटीज में काफी असरदार व कारगर है लेकिन इसका प्रभाव अलग अलग व्यक्तियों पर जल्दी व देर में हो सकता है।

      Delete
  19. Vinay Kumar Yadav21 May 2024 at 06:45

    Kya iss capsule ko allopathic medicines ke saath saath le sakte hain?

    ReplyDelete
    Replies
    1. Kisi bhi medicine ke sath lene se pahle apko Doctor se consult jarur karna chahiye .

      Delete